uska hi banana lyrics :- uska hi banana lyrics song is from 1920 Evil Returns movie.song is sung by Arijit Singh. Lyrics written by Junaid Wasi and composed by Chirantan Bhatt, in song Starring Aftab Shivdasani, Tia Bajpai. Music label T-Series

uska hi bana lyrics details



Song Title: Uska Hi Bana Lyrics
Movie: 1920 Evil Returns
Singer: Arijit Singh
Lyrics: Junaid Wasi
Music: Chirantan Bhatt
Music Label: T-Series

uska hi banana lyrics


Meri kismat ke har ek panne pe
mere jeete ji baad marne ke
mere har ik kal har ik lamhe mein
tu likh de mera usse
har kahaani me sare kisson mein
dil ki duniya ke sacche rishton mein
zindagani ke sare hisso mein
tu likh de mera usse

ae khuda ae khuda
jab bana uska hi bana
ae khuda ae khuda
jab bana uska hi bana

uska hoon uss mein hoon uss se hoon
usi ka rehne de
main toh pyasa hoon hai dariya
wo zariya wo jeene ka mere

mujhe ghar de gali de shehar de
usi ke naam ke
kadam ye chale ya ruke ab usi ke vaaste
dil mujhe de agar dard de uska par
uski ho woh hasin gunje jo mera ghar

ae khuda ae khuda
jab bana uska hi bana
ae khuda ae khuda
jab bana uska hi bana

mere hisse ki khushi ko hansi ko
tu chaahe aadha kar
chahe lele tu meri zindagi par
ye mujhse vaada kar
uske ashqon pe ghamon pe dukhon pe
har uske zakhm par
haq mera hi rahe har jagah har ghadi haan umr bhar
ab faqat ho yahi wo rahe mujh mein hi
wo juda kehne ko bichhde na par kabhi

ae khuda ae khuda
jab bana uska hi bana
ae khuda ae khuda
jab bana uska hi bana

meri kismat ke har ek panne pe
mere jeete ji baad marne ke
mere har ik kal, har ik lamhe mein
tu likh de mera usse
ae khuda ae khuda
ae khuda ae khuda

uska hi bana lyrics




uska hi bana lyrics in hindi


मेरी किस्मत के हर एक पन्ने पे
मेरे जीते जी बाद मरने के
मेरे हर इक कल हर इक लम्हे में
तू लिख दे मेरा उसे
हर कहानी में सारे क़िस्सों में
दिल की दुनिया के सच्चे रिश्तों में
ज़िंदगानी के सारे हिस्सो में
तू लिख दे मेरा उसे

ऐ खुदा ऐ खुदा
जब बना उसका ही बना
ऐ खुदा ऐ खुदा
जब बना उसका ही बना

उसका हूँ उसमें हूँ उसे हूँ
उसी का रहने दे
मैं तो प्यासा हूँ है दरिया
वो ज़रिया वो जीने का मेरे

मुझे घर दे गली दे शहर दे
उसी के नाम के
कदम ये चले या रुके अब उसी के वास्ते
दिल मुझे दे अगर दर्द दे उसका पर
उसकी हो वो हँसी गूँजे जो मेरा घर

ऐ खुदा ऐ खुदा
जब बना उसका ही बना
ऐ खुदा ऐ खुदा
जब बना उसका ही बना

मेरे हिस्से की खुशी को हँसी को
तू चाहे आधा कर
चाहे लेले तू मेरी ज़िंदगी पर
ये मुझसे वादा कर
उसके अश्क़ों पे ग़मों पे दुखों पे
हर उसके ज़ख़्म पर
हक़ मेरा ही रहे हर जगह हर घड़ी हाँ उम्र भर
अब फ़क़त हो यही वो रहे मुझमें ही
वो जुड़ा कहने को बिछड़े ना पर कभी

ऐ खुदा ऐ खुदा
जब बना उसका ही बना
ऐ खुदा ऐ खुदा
जब बना उसका ही बना

मेरी किस्मत के हर एक पन्ने पे
मेरे जीते जी बाद मरने के
मेरे हर इक कल हर इक लम्हे में
तू लिख दे मेरा उसे
ऐ खुदा ऐ खुदा
ऐ खुदा ऐ खुदा


Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post